Join Our WhatsApp Group!

RBI Announces New Features for Debit and Credit Card Users That Will Change the Way You Pay

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने डेबिट और क्रेडिट कार्ड यूजर्स के लिए कुछ नई सुविधाएं पेश की हैं। इन सुविधाओं का उद्देश्य कार्डधारकों को अधिक सुरक्षा और सुविधा प्रदान करना है।

नई सुविधाएं क्या हैं?

RBI ने निम्नलिखित नई सुविधाएं पेश की हैं:

  • Card-on-File Tokenisation (CoFT) creation facilities directly at the issuer bank level: वर्तमान में, CoFT टोकन केवल व्यापारी के एप्लिकेशन या वेबपेज के माध्यम से बनाया जा सकता है। RBI अब कार्ड जारीकर्ता बैंक स्तर पर सीधे CoFT टोकन निर्माण सुविधाएं शुरू करने का प्रस्ताव कर रहा है। इस उपाय से कार्डधारकों के लिए टोकन बनाने और विभिन्न ईकॉमर्स प्लेटफॉर्म के साथ उनके मौजूदा खातों से लिंक करने की सुविधा बढ़ेगी।
  • Extension of the payments Infrastructure Development Fund (PIDF) scheme by two years: RBI ने PIDF योजना को दो साल के लिए बढ़ाने की भी घोषणा की है। PIDF योजना का उद्देश्य देश में भुगतान अवसंरचना के विकास को बढ़ावा देना है।

नई सुविधाओं के क्या लाभ हैं?

नई सुविधाओं के निम्नलिखित लाभ हैं:

  • Increased security: CoFT टोकन का उपयोग करके किए गए लेनदेन अधिक सुरक्षित होते हैं, क्योंकि लेनदेन प्रक्रिया के दौरान वास्तविक कार्ड डेटा मर्चेंट के साथ साझा नहीं किया जाता है।
  • Convenience: CoFT टोकन के उपयोग से कार्डधारकों को अपने कार्ड की जानकारी बार-बार दर्ज करने की आवश्यकता नहीं होती है। यह ऑनलाइन खरीदारी को अधिक सुविधाजनक बनाता है।

CoFT टोकनाइजेशन क्या है?

CoFT टोकनाइजेशन एक प्रक्रिया है जिसमें कार्डधारक के वास्तविक कार्ड डेटा को एक वैकल्पिक कोड, जिसे टोकन कहा जाता है, से बदल दिया जाता है। टोकन का उपयोग करके किए गए लेनदेन में, मर्चेंट को वास्तविक कार्ड डेटा प्राप्त नहीं होता है, केवल टोकन प्राप्त होता है। यह कार्डधारक के कार्ड डेटा को सुरक्षित रखने में मदद करता है।

PIDF योजना क्या है?

PIDF योजना का उद्देश्य देश में भुगतान अवसंरचना के विकास को बढ़ावा देना है। PIDF योजना के तहत, RBI बैंकों और अन्य भुगतान सेवा प्रदाताओं को भुगतान अवसंरचना विकसित करने के लिए अनुदान प्रदान करता है।

RBI की नई सुविधाओं का डेबिट और क्रेडिट कार्ड यूजर्स पर क्या प्रभाव होगा?

RBI की नई सुविधाओं से डेबिट और क्रेडिट कार्ड यूजर्स को अधिक सुरक्षा और सुविधा मिलेगी। CoFT टोकनाइजेशन के उपयोग से कार्डधारकों के कार्ड डेटा को सुरक्षित रखने में मदद मिलेगी। PIDF योजना के विस्तार से देश में भुगतान अवसंरचना के विकास को बढ़ावा मिलेगा, जिससे कार्डधारकों को लाभ होगा।

डेबिट और क्रेडिट कार्ड यूजर्स नई सुविधाओं का लाभ कैसे उठा सकते हैं?

डेबिट और क्रेडिट कार्ड यूजर्स अपने कार्ड जारीकर्ता बैंक से CoFT टोकन बनाने के लिए अनुरोध कर सकते हैं। CoFT टोकन बनाए जाने के बाद, कार्डधारक इसे विभिन्न ईकॉमर्स प्लेटफॉर्म के साथ अपने मौजूदा खातों से लिंक कर सकते हैं।

निष्कर्ष

RBI की नई सुविधाएं डेबिट और क्रेडिट कार्ड यूजर्स के लिए एक सकारात्मक कदम हैं। ये सुविधाएं कार्डधारकों को अधिक सुरक्षा और सुविधा प्रदान करेंगी।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *